समृद्ध है छत्तीसगढ़ की पत्रकारिता-डा. चरणदास महंत, 1200 सदस्यों की मौजूदगी में संपन्न हुआ छग श्रमजीवी पत्रकार संघ का प्रादेशिक सम्मेलन

समृद्ध है छत्तीसगढ़ की पत्रकारिता-डा. चरणदास महंत, 1200 सदस्यों की मौजूदगी में संपन्न हुआ छग श्रमजीवी पत्रकार संघ का प्रादेशिक सम्मेलन

 

रायपुर ।  समृद्ध है छत्तीसगढ़ की पत्रकारिता, जिनकी पहचान राष्ट्रीय स्तर पर है। यहां काम करने की स्वतंत्रता,मौलिकता और सामाजिक समरसता की विचारधारा है.ग्रामीण पत्रकारिता भी लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के सजग प्रहरी के रूप में अपनी भूमिका महती ढंग से निभा रही है। आगामी दिनों होने जा रहे हैं चुनाव के परिवेश में आपकी जिम्मेदारी और बढ़ गई है। सम्मेलन का सफल आयोजन के लिए शुभकामनाएं देते हुए उक्त विचार मुख्य अतिथि छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष डा.चरणदास महंत ने व्यक्त किये। महंत ने श्रमजीवी पत्रकार संघ की जम्मकर तारीफ की उन्होंने कहा कि मेरे लिए शौभाग्य का पल है कि आज प्रदेश के कोने कोने से आए पत्रकारों से मिलने का अवसर मिला ये बहुत सराहनीय है कि आपके प्रदेश अध्यक्ष अवस्थी जी एक एक पत्रकार को नाम से जानते है इतनी विशाल उपस्थिति वंदनीय है
राजधानी रायपुर के निरंजन धर्मशाला में आयोजित छत्तीसगढ़ श्रमजीवी पत्रकार संघ के प्रादेशिक सम्मेलन में पूरे प्रदेश भर से पत्रकार जुटे थे। सांसद सुनील सोनी,सांसद संतोष पांडे,खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष राजेन्द्र तिवारी,विधायक इंदु बंजारे,शाकमभरी बोर्ड के अध्यक्ष राम कुमार पटेल,पूर्व विधायक लाभचंद बाफना,क्रेडा के पूर्व अध्यक्ष पुरंदर मिश्रा,प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री कन्हैया अग्रवाल भी सम्मेलन में शामिल हुए। इस अवसर पर प्रिंट व इलेक्ट्रानिक मीडिया के पत्रकारों को सम्मानित भी किया गया। उत्तराखंड व कुछ अन्य प्रदेश से श्रमजीवी पत्र संघ के पदाधिकारी भी शामिल होने के लिए विशेष रूप से पहुंचे हुए थे।
लंबे समय बाद हुए छत्तीसगढ़ श्रमजीवी पत्रकार संघ के सम्मेलन के उत्साह का इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि 1200 सदस्यों की मौजूदगी रही। छत्तीसगढ़ के हर जिला व ब्लाक मुख्यालय से संघ के सदस्य शामिल हुए। स्वागत भाषण मेंं प्रदेश अध्यक्ष अरविंद अवस्थी ने बताया कि प्रदेश के सबसे बड़े पत्रकार संघ का हर साल वार्षिक प्रादेशिक सम्मेलन होता है जो कोरोनाकाल के चलते नहीं हो पाया था। संघ की मांग पर राज्य सरकार ने अधिकांश मांगे पूरी की है इसके लिए हम आभारी है। जो मांगे लंबित रह गई है विधानसभा चुनाव के बाद पूरा करवाने का प्रयास करेंगे। छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष डा.चरणदास महंत ने कहा कि अच्छा लगा ऐसे आयोजन में आकर जहां पूरे प्रदेश भर से लोग आए और खास बात ये कि आपके अध्यक्ष सभी सदस्यों का नाम व्यक्तिगत तौर पर जानते हैं। खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष राजेन्द्र तिवारी ने कहा कि पहली बार छत्तीसगढ़ के पूरे प्रदेश भर से एकत्रित इतनी बड़ी संख्या में जुटे पत्रकारों के सम्मेलन में शामिल हो रहे हैं। जिस प्रकार विधानसभा अध्यक्ष डा.महंत जी सदन में पक्ष और विपक्ष को साथ लेकर संतुलित ढंग से संचालन करते हैं,उसी प्रकार आपकी कलम भी निर्विवाद रूप से सभी पक्ष के लिए चले। के्रडा के पूर्व अध्यक्ष व उत्कल ब्राम्हण समाज के प्रमुख पुरंदर मिश्रा ने अगला सम्मेलन जगन्नाथ मंदिर गायत्रीनगर में करने का आमंत्रण दे दिया। केवल सम्मेलन में ही शामिल होने के लिए राजनांदगांव से पहुंचे सांसद संतोष पांडे ने पत्रकारिता व पत्रकार की भूमिका को लेकर काफी गंभीर बातें कहीं। सांसद सुनील सोनी ने स्व.मधुकर खेर को याद करते हुए कहा कि निष्पक्ष व निर्भिक लेखनी होगी तो किसी के सामने भी आपको झुकने की जरूरत नहीं। विधायक श्रीमती इंदु बंजारे ने कहा कि जब कहीं न्याय लोगों को नहीं मिलता है तो वे मीडिया के पास जाते हैं और आप उनके इस भरोसे को बनाये रखें। वरिष्ठ पत्रकार रामअवतार तिवारी ने छत्तीसगढ़ का विकास और पत्रकारिता पर विशेष संबोधन दिया। आभार प्रदर्शन संघ के सरंक्षक ब्रजेश चौबे ने व्यक्त किया और मंच संचालन प्रदेश संयोजक राजेश मिश्रा व मुकेश गर्ग ने किया।
सम्मेलन में प्रमुख रूप से छत्तीसगढ़ श्रमजीवी पत्रकार संघ के महासचिव विश्वदीपक राई,कोषाध्यक्ष अनिल पवार, प्रदेश सचिव मनोज मिश्रा,बउपाध्यक्ष मोहन तिवारी, जांजगीर जिला अध्यक्ष मनोज थवाईत, जिला महासचिव देवेन्द्र यादव, उपेन्द्र तिवारी, सरोज सारथी, दिनेश थवाईत, उदय हरबंश, किशोरी कश्यप, विश्वनाथ यादव, धीरेन्द्र योगी, सुरेन्द्र सोनी, नवीन सराफ, उमेश कांत, मुकेश, निखिल, मुरली नायर, किशोर कश्यप, विजय यादव सहित सैकड़ो पत्रकार शामिल हुए।

Leave a Comment

[democracy id="1"]
error: Content is protected !!