लोन किश्त का रकम गबन करने वाला आरोपी चढा जांजगीर पुलिस के हत्थे

 लोन किश्त का रकम गबन करने वाला आरोपी चढा जांजगीर पुलिस के हत्थे

जांजगीर चांपा। अवधेश सिंह क्षत्रिय निवासी-जांजगीर द्वारा थाना जांजगीर में रिपोर्ट दर्ज कराया कि वह श्रीराम फाइनेंस लिमिटेड कंपनी जांजगीर शाखा का वित्तीय प्रबंधक है इसके शाखा में राहुल यादव निवासी वार्ड न 18, यादव चौक, खोकसा रिलेसनशीप इग्जकेटीव के पद पर माह मई वर्ष 2022 से कार्य कर रहा था जिसका कार्य ऋण देना व किस्त का संग्रह करना था कपनी द्वारा उसको ग्राहक क़िस्त लेकर रसीद देने का अधिकार भी दिया गया था कंपनी के नियमानुसार किस्ती का संग्रह कर 24 घंटे के अंदर कार्यालय में जमा करना पडता है राहुल यादव द्वारा ग्राहक  भोले श्याम सिंह, ग्राम गौद,  अजय कुमार चौहान, बस्ती बाराद्वार व  मंगलेश्वरी साहू, बसंतपुर, चाम्पा जिनका कंपनी से वाहन पर लोन चल रहा हैं उनके किस्त के संग्रहण हेतु उनके पास गया था राहुल यादव द्वारा ग्राहक  भोले श्याम सिंह, ग्राम गौद से 23000 रूपए 26 अप्रैल 2023 को,  अजय कुमार चौहान, बस्ती बाराद्वार से 105500 रूपए 26 अप्रैल 2023 को व्  मंगलेश्वरी साहू,बसंतपुर, चाम्पा से 10400 रूपए 27 अप्रैल 2023 को (कुल-1,38,900) लिया गया और उसकी डिजिटल रसीद भी मोबाइल के माध्यम से दी गई लेकिन 24 घंटे गुजर जाने के बाद भी राहुल यादव द्वारा संग्रहित क़िस्त की राशि कार्यालय में जमा नहीं किया गया। कंपनी के द्वारा राहुल यादव को रकम जमा करने हेतु नोटिस भी दिया गया था लेकिन उसके बाद भी उसके द्वारा उक्त रकम जमा नहीं किया गया हैं उसके द्वारा कंपनी के वसूली के कुल रकम 1,38,900 /- (एक लाख अड़तीस हजार नौ सौ रुपये) का गबन किया गया। प्रार्थी की रिपोर्ट पर आरोपी के विरुद्ध अपराध क्र 340/23 धारा 409 भादवि पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।
प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए आरोपी राहूल यादव वार्ड क्र 18 यादव चौक जांजगीर को दिनांक 20.05.2023 को विधिवत गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया।
आरोपी को गिरफ्तार करने में निरीक्षक लखेश केवट, सउनि लम्बोदर सिंह एवं अन्य थाना स्टॉफ जांजगीर का विशेष योगदान रहा ।

Leave a Comment

[democracy id="1"]

न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी न्यायालय जांजगीर सीमा कंवर ने लापरवाही उपेक्षापूर्वक स्कूल मिनी बस चलाते हुए 3 लोगो को गंभीर चोट पहुंचाने के आरोपी योगेश चंद्र यादव को अलग अलग धाराओं में सुनाई 03 -03 माह एवम 01-01वर्ष कारावास की सजा

error: Content is protected !!