शासकीय राशन सामग्री गबन करने वाले 03 आरोपियों को किया गिरफ्तार सायबर सेल एवं  नवागढ़ पुलिस की कार्यवाही

शासकीय राशन सामग्री गबन करने वाले 03 आरोपियों को किया गिरफ्तार सायबर सेल एवं नवागढ़ पुलिस की कार्यवाही

 

जांजगीर चांपा 01 फरवरी 2024/

आरोपी द्वारा एक राय होकर जयस्तंभ महिला स्व. सहायता समूह मुडपार थाना नवागढ़ के सदस्यों द्वारा वर्ष 2017 में किया गया था गबन

 

(01) अमरनाथ साहू उम्र 60 वर्ष निवासी ग्राम मुडपार (ख) थाना नवागढ

(02). देव प्रसाद लहरे पिता भुरूराम उम्र 32 वर्ष निवासी ग्राम मुडपार (ख) थाना नवागढ

(03). सुशीला बाई खुंटे उम्र 50 वर्ष निवासी ग्राम मुडपार (ख) थाना नवागढ जिला जांजगीर चांपा

आरोपियों के विरुद्ध धारा 409, 420, 34 भादवि. 3,7 ईसी एक्ट के तहत कार्यवाही कर भेजा गया न्यायिक रिमांड पर

मामले की संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है कि थाना नवागढ़ जिला जांजगीर चाम्पा क्षेत्रांतर्गत ग्राम मुडपार के जयस्तंभ स्व सहायता समूह के अघ्यक्ष सुशीला बाई खुंटे व सदस्य अमरनाथ साहू एवम उनके अन्य साथियों के द्वारा 25.05.2017 के पूर्व के सहायता समुह में आंबटिंत होने वाले चावल, नमक, शक्कर व मिट्टी तेल व अन्य राशन सामान को उपभोक्ताओं को वितरण नही कर फर्जी तरिके से गबन किया है, प्रार्थी कन्हैयालाल खाद्य निरीक्षक की रिपोर्ट पर आरोपियों के विरूद्ध थाना नवागढ़ में दिनांक 31.08.17 को अपराध क्र. 168/2017 धारा 409, 420, 34 भादवि. 3,7 ईसी एक्ट का अपराध पंजीबद्ध किया गया था।

आरोपीगण घटना घटित कर फरार हो गया था जिसकी लगातार पतासाजी की जा रही थी, मुखबिर सूचना आधार पर आरोपियों को गिरफ्तार कर घटना के संबंध में पूछताछ किया गया जो जुर्म स्वीकार किए जाने से विधिवत गिरफ्तार कर दिनांक 31.01.24 को न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है। प्रकरण में विवेचना जारी है।

उपरोक्त कार्यवाही मे निरीक्षक सत्यकला रामटेके थाना प्रभारी नवागढ, एवं साईबर सेल उपनिरी0 पारस पटेल, स.उ.नि. आर.पी. बघेल, प्र0आर0 राजकुमार चंद्रा आर0 गिरीश कश्यप, रोहित कहरा, अर्जुन यादव म0आर0 दिब्या सिंह की सराहानीय भूमिका रही है।

Leave a Comment

[democracy id="1"]

न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी न्यायालय जांजगीर सीमा कंवर ने लापरवाही उपेक्षापूर्वक स्कूल मिनी बस चलाते हुए 3 लोगो को गंभीर चोट पहुंचाने के आरोपी योगेश चंद्र यादव को अलग अलग धाराओं में सुनाई 03 -03 माह एवम 01-01वर्ष कारावास की सजा

error: Content is protected !!