कलेक्टर आकाश छिकारा की अध्यक्षता में मीडिया प्रमाणन एवं अनुवीक्षण समिति के सदस्यों का प्रशिक्षण आयोजित

कलेक्टर आकाश छिकारा की अध्यक्षता में मीडिया प्रमाणन एवं अनुवीक्षण समिति के सदस्यों का प्रशिक्षण आयोजित

पेड न्यूज, फेक न्यूज व आदर्श आचरण संहिता के उल्लंघन की निगरानी सतर्कतापूर्वक करने का दिए निर्देश

 

जांजगीर-चांपा 09 अप्रैल 2024/ कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री आकाश छिकारा की अध्यक्षता में लोकसभा निर्वाचन 2024 के लिए गठित मीडिया प्रमाणन एवं अनुवीक्षण समिति (डब्डब्) के सदस्यों का प्रशिक्षण कलेक्टोरेट कार्यालय के सभाकक्ष में आज आयोजित किया गया। कलेक्टर आकाश छिकारा ने कहा कि निर्वाचन के महत्वपूर्ण कार्य के लिए मीडिया मॉनिटरिंग व सर्टिफिकेशन कार्य से जुड़े सभी अधिकारी एवं कर्मचारी अपने दायित्वों का निर्वहन सजगतापूर्वक करें। उन्होंने कहा कि आदर्श आचार संहिता को ध्यान में रखते हुए सोशल मीडिया की निगरानी पर ध्यान देते हुए कार्य करने की जरूरत है।
कलेक्टर ने निर्देशित किया कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार आदर्श आचरण संहिता का पालन किया जाए। आदर्श आचरण संहिता का उल्लंघन न हो इसके लिए प्रिंट इलेक्ट्रानिक, सोशल मीडिया, रेडियो, एफएम, स्थानीय चैनल, आकाशवाणी का अनुवीक्षण करते रहें। अपर कलेक्टर  एस पी वैद्य व एमसीएमसी नोडल अधिकारी आराध्या राहुल कुमार ने भी जानकारी प्रदान कर आवश्यक निर्देश दिए। मास्टर ट्रेनर द्वारा इलेक्ट्रानिक मीडिया इकाई, प्रिंट मीडिया इकाई, सोशल मीडिया इकाई के अनुवीक्षण प्रमाणन के विविध बिन्दुओं का प्रशिक्षण दिया। उन्होंने पेड न्यूज तथा इलेक्ट्रानिक मीडिया मॉनिटरिंग एवं अन्य गतिविधियों की जानकारी दी।
इस अवसर पर सहायक संचालक जनसंपर्क एवं एमसीएमसी सचिव  जरीफ खान, मास्टर ट्रेनर  एम आर बंजारे, प्रिंट मीडिया ईकाइ  देवेन्द्र कुमार यादव,  दीपक कुमार यादव,  अनुभव तिवारी, सोशल मीडिया ईकाई से  हिमांशु डहरिया,  ओम प्रकार सिंह,  बृजेश करियारे,  विक्रांत साहू, इलेक्ट्रानिक ईकाई से  बसंत खुंटे,  गोपेन्द्र पटेल,  शंकर लाल माथुर, सुनील साहू,  दिलीप कुमार अवस्थी,  अविनाश टोप्पो,  लक्ष्मी प्रसाद साहू,  ओंकार सूर्यवंशी सहित अन्य सदस्य एवं संबंधित अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

Leave a Comment

[democracy id="1"]

मुख्यमंत्री विष्णु देव की संवेदनशील पहल छत्तीसगढ़ की पबिया, पविया, पवीया जाति को अनुसूचित जनजातियों की सूची में पाव जाति के साथ शामिल करने का प्रस्ताव भारत सरकार को भेजा

error: Content is protected !!