14 से 20 अप्रैल तक मनाया जा रहा है अग्नि सुरक्षा सप्ताह

14 से 20 अप्रैल तक मनाया जा रहा है अग्नि सुरक्षा सप्ताह

 

जांजगीर-चांपा 14 अप्रैल 2024/ नगर सेना, अग्निशमन एवं आपातकालीन सेवाऐं तथा एसडीआरएफ मुख्यालय रायपुर के निर्देशानुसार आज अग्नि सुरक्षा सेवा सप्ताह के अवसर पर शहीद अग्निवीरों को श्रद्धांजली देकर रैली का शुभारंभ किया गया। रैली नगर सेना एवं अग्निशमन कार्यालय जांजगीर से निकाल कर जांजगीर मुख्य मार्ग से होते हुये कचहरी चौक, वी.टी.आई. चौक, नेताजी चौक से वापस नगर सेना एवं अग्निशमन कार्यालय जांजगीर पर समाप्त हुई। शहरवासी एवं आमजनों में अग्नि सुरक्षा संबंधी जागरूकता लाने के लिये वेनर, पोस्टर के माध्यम से प्रेरित किया गया। इस अवसर पर अपर कलेक्टर  लविना पाण्डेय, जिला सेनानी एवं जिला अग्निशमन अधिकारी योग्यता साहू तथा फायर कर्मचारियों सहित नगर सैनिक उपस्थित रहे।
जिला सेनानी एवं जिला अग्निशमन अधिकारी ने बताया कि अग्नि सुरक्षा सप्ताह 14 अप्रैल से 20 अप्रैल तक मनाया जा रहा है, जिसमें जिले भर के विभिन्न स्थानों पर अग्नि सुरक्षा संबंधी जागरूकता का आयोजन करने के साथ-साथ जिले के महत्वपूर्ण एवं भीड़-भाड़ तथा ब्यवसायिक भवनों में लगे अग्निशमन एवं उनकी उपलब्धताओं का निरीक्षण किया जायेगा। आगामी भीषण गर्मी के मद्देनजर जिला अग्निशमन अधिकारी द्वारा समस्त ब्यवसायिक संस्थानों से राष्ट्रीय भवन सुरक्षा (NBC-4) अनुसार अग्नि सुरक्षा उपकरण लगाने व अग्नि सुरक्षा प्रमाण पत्र NOC लेने हेतु अपील किया गया है। उक्त व्यवस्था नही किये जाने की स्थिति में भविष्य में नियमानुसार कार्यवाही की जावेगी।

अग्नि से बचाव के लिये सावधानियां

अग्नि से बचाव के लिये सिनेमाघर, मॉल, अस्पताल, हॉटल आदि भवनों में जाने पर आपातकालीन निकास मार्गो की जानकारी कर लें। विद्युत उपकरणों की समय-समय पर दुरूस्त करवायें जिससे की शार्ट सर्किट से होने वाली अग्नि दुर्घटना से बचा जा सके। ट्रेन, बसों, निजी वाहन में यात्रा के दौरान किसी भी प्रकार का ज्वलनशील सामान साथ लेकर न चलें। अग्निशमन वाहनों को आगजनी स्थल पर आते-जाते समय रास्ता देवें। अग्निशमन विभाग को आपातकाल में सूचना दिये जाने के लिये 112 डायल करें। फायर कंट्रोल रूम जांजगीर का दूरभाष नंबर 07817 299188 में भी सूचना दी जा सकती है। अग्नि से बचाव के लिये उक्त सावधानियों का पालन करें ताकि आपके जानमाल की सुरक्षा सुनिश्चित हो सके।

Leave a Comment

[democracy id="1"]

मुख्यमंत्री विष्णु देव की संवेदनशील पहल छत्तीसगढ़ की पबिया, पविया, पवीया जाति को अनुसूचित जनजातियों की सूची में पाव जाति के साथ शामिल करने का प्रस्ताव भारत सरकार को भेजा

error: Content is protected !!