बोर्ड परीक्षा में परिणाम जो भी आए लेकिन बच्चें रहें तनाव मुक्त – कलेक्टर आकाश छिकारा

बोर्ड परीक्षा में परिणाम जो भी आए लेकिन बच्चें रहें तनाव मुक्त – कलेक्टर आकाश छिकारा

पीटीएम में शामिल हुए कलेक्टर, कहा – बच्चों को समझाएं कि जिन्दगी में दूसरा मौका भी मिलता है इसलिए निराश न हो

जिले के सभी हाईस्कूल एवं हायर सेकेण्डरी स्कूलों में पालक शिक्षक बैठक का हुआ आयोजन

 

जांजगीर-चांपा 04 मई 2024/ माध्यमिक शिक्षा मंडल रायपुर द्वारा कक्षा 10वीं एवं 12वीं के परीक्षा परिणाम प्रतिवर्ष घोषित किए जाते हैं विद्यार्थियों के अपेक्षित परिणाम नहीं आने से विद्यार्थी प्रायः तनाव में रहते हैं तथा कुछ विद्यार्थी तो डिप्रेशन में चले जाते हैं। कलेक्टर  आकाश छिकारा ने निर्देशन में जिले के सभी हाईस्कूल एवं हायर सेकेण्डरी स्कूलों में पालक शिक्षक बैठक का आयोजन हुआ। इसी तारतम्य में कलेक्टर  आकाश छिकारा ने आज नवागढ़ विकासखंड के ग्राम पंचायत धुरकोट हाई स्कूल में आयोजित पालक शिक्षक बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि सभी बच्चों ने लगन व मेहनत के साथ पढ़ाई करके बोर्ड की परीक्षा दी है। परीक्षा का परिणाम जो भी आये बच्चे उस परिणाम को लेकर किसी भी प्रकार का तनाव न महसूस करें व इसे सहज ग्रहण करें। इसलिए यह बैठक रखा गया है ताकि समन्वय से हम सब बच्चें को तनाव मुक्त रख सकें।
बैठक में अभिभावकों को अपने बच्चों के परीक्षा परिणाम से उत्पन्न तनाव को दूर करने आवश्यक परामर्श व विचार-विमर्श किया गया एवं परीक्षा परिणाम को लेकर एक सकारात्मक माहौल बच्चों व पालकों के मध्य तैयार कर तनाव से ग्रसित बच्चों के आवश्यक लक्षण को देखते हुए समुचित निगरानी व्यवस्था सुनिश्चित करने संबंधी सुझाव दिए गए। बैठक में कलेक्टर ने कहा कि परीक्षा परिणाम घोषित होने के पहले या बाद में विद्यार्थियों को निराश होने या तनाव लेने की आवश्यकता नहीं है। पालकों को भी बच्चों से बहुत अधिक अपेक्षा नहीं करनी चाहिए और परीक्षा परिणाम को लेकर अधिक दबाव नहीं देना चाहिए।
कलेक्टर ने कहा कि पैरेन्टस् टीचर मीटिंग के माध्यम से हम सभी अभिभावकों को जोड़ना है। बोर्ड के परीक्षा परिणाम के तनाव से बच्चों को मुक्त रखना है और उन्हें बताना है कि जिन्दगी में हमेशा दूसरा मौका भी मिलता है इसलिए हमे निराश नहीं होना है और सकारात्मक सोंच के साथ आगे बढ़ना है। उन्होंने पालकों से कहा कि परीक्षा परिणाम आने के बाद बच्चों के व्यवहार पर हमेशा नजर रखें। बच्चों के साथ बाते साझा करें और हर कदम उनके साथ रहें। उन्होंने कहा कि बच्चें ऐसा कोई कदम न उठाये जिससे हमे बाद में परेशानी का सामाना करना पड़े। कलेक्टर ने कहा कि हमे परीक्षा परिणाम से हताश और निराश नहीं होना है। इस दौरान उन्होंने बहुत सारे भी बच्चों और अभिभावकों को सफलता और असफलता को उदाहरण देकर बताया। इस दौरान उन्होंने पालकों एवं विद्यार्थियों के प्रश्नों का समाधान भी किया। इस दौरान संयुक्त कलेक्टर  ममता यादव, जिला शिक्षा अधिकारी  अश्वनी कुमार भारद्वाज, डीएमसी  आर के तिवारी सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

बोर्ड परीक्षा परिणाम का हो तनाव तो हेल्पलाईन का ले मदद –

माध्यमिक शिक्षा मंडल रायपुर द्वारा कक्षा 10वीं एवं 12वीं के परीक्षा परिणाम प्रतिवर्ष घोषित किए जाते हैं विद्यार्थियों के अपेक्षित परिणाम नहीं आने से विद्यार्थी प्रायः तनाव में रहते हैं तथा कुछ विद्यार्थी तो डिप्रेशन में चले जाते हैं। जब भी ऐसा लगे तो विद्यार्थी, पालक हेल्पलाईन नंबर 18002334363 पर संपर्क कर अपनी समस्याओं का समाधान कर सकते हैं। इसके साथ ही मानसिक स्वस्थ्य से संबंधित जानकारी के लिए 14416 पर संपर्क सकते है।

Leave a Comment

[democracy id="1"]

मुख्यमंत्री विष्णु देव की संवेदनशील पहल छत्तीसगढ़ की पबिया, पविया, पवीया जाति को अनुसूचित जनजातियों की सूची में पाव जाति के साथ शामिल करने का प्रस्ताव भारत सरकार को भेजा

error: Content is protected !!